पंजाब में बड़ी सियासी हलचल, कांग्रेस और शिअद के खिलाफ महागठबंधन की तैयारी

पंजाब में महागठबंधन बनाने की तैयारी चल रही है। इसके लिए आम आदमी पार्टी से इस्तीफा देकर पंजाबी एकता पार्टी का गठन करने वाले सुखपाल सिंह खैहरा सक्रिय हैं। इसी कोशिश के तहत खैहरा यहां अकाली दल से बागी होकर नई पार्टी बनाने वाले रंजीत सिंह ब्रह्मपुरा से मिलने उनके आवास पर पहुंचे। दो दिन पहले आम आदमी पार्टी के सांसद भगवंत मान ब्रह्मपुरा के पास समर्थन के लिए आए थे।

ब्रह्मपुरा से बातचीत के बाद खैहरा ने कहा, पंजाब में महागठबंधन बनाएंगे। नए गठबंधन में आम आदमी पार्टी भी शामिल हो सकती है, लेकिन उसके लिए शर्त है कि वह कांग्रेस से कहीं भी समझौता नहीं करे। खैहरा ने कहा कि वह अकाली दल और कांग्रेस के खिलाफ सूबे में महागठबंधन बनाने जा रहे हैं। इस गठबंधन में शिरोमणि अकाली दल (टकसाली) और बसपा को भी शामिल किया जा रहा है। उन्हें उम्मीद है शिअद टकसाली महागठबंधन में शामिल होगा।

उन्‍होंने कहा कि अभी तो ब्रह्मपुरा से बातचीत की शुरुआत हुई है। जल्द इसके अच्छे परिणाम सामने आएंगे। ब्रह्मपुरा ने उनके पिता के साथ लंबे समय तक काम किया है। कांग्रेस और बादलों को हराने के लिए सभी पार्टियों को साथ आना होगा। खैहरा ने कहा कि ब्रह्मपुरा के साथ भविष्य की राजनीतिक योजनाओं को लेकर लंबी बातचीत हुई है। उन सभी को साथ मिलाया जाएगा, जिनकी सोच आपस में मिलती है। आम आदमी पार्टी के लिए भी द्वार खुले हैं। वही लोग और पार्टियां उनका विरोध कर रहे हैं, जिनके चेहरे उन्होंने बेनकाब किए हैं।

अकाली दल टकसाली के अध्यक्ष रंजीत सिंह ब्रह्मपुरा का कहना है कि सुखपाल खैहरा ने उसने मुलाकात की है। खैहरा ने अकाली दल (बादल )और कांग्रेस के खिलाफ महागठबंधन बनाने के लिए उनकी पार्टी का सहयोग मांगा है। इसके अलावा लोकसभा चुनाव लड़ने पर भी चर्चा की गई। खैहरा की पार्टी के विचारों के साथ उनकी पार्टी के कई विचार मिलते हैं। अभी उनकी पार्टी ने कोई फैसला नहीं लिया है। जल्द ही पार्टी के नेताओं के साथ विचार विमर्श कर कोई फैसला किया जाएगा। इस बारे में अभी कुछ कहना जल्दबाजी होगी।

Source Dainik Jagran

Discussions

Discussions